नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?: जब पहली बार हमने लिखना पढ़ना शुरू किया था तब से लेकर स्कूल, कॉलेज, ऑफिस, पर्सनल वर्किंग डायरी, राइटिंग, हिसाब किताब और डेली लाइफ में न जाने कितने दफे हमें नोटबुक या कॉपी की जरूरत पड़ती है। ₹5 से लेकर 100-200 तक की नोटबुक आपको मार्केट में मिल जाएगी। आजकल तो कस्टमाइज्ड नोटबुक भी मिलने लगे हैं। आप अपना फोटोग्राफ भी नोटबुक के कवर पर लगवा सकते हैं।

मार्केट में ब्रांडेड नोटबुक से लेकर लोकल मैन्युफैक्चरिंग करने वाली नोटबुक अवेलेबल हैं और सबका अपना कस्टमर बेस है। अपने देश में स्टूडेंट की संख्या 20 करोड़ से भी ज्यादा है और ये एक बड़ी आबादी है जिन्हें अपनी स्टूडेंट लाइफ में नोटबुक और कॉपी चाहिए ही। अगर बात करें इंडियन स्टेशनरी मार्केट की तो अनुमान लगाया गया है कि 2018 से 2024 तक इंडिया की स्टेशनरी मार्केट 10.5 परसेंट रेट से हर साल आगे बढ़ेगी। स्कूल के अलावा भी सरकारी और प्राइवेट ऑफिस वर्क के लिए अलग अलग तरह की नोटबुक्स की जरूरत पड़ती है। इसलिए इनकी रिक्वायरमेंट खत्म नहीं होने वाली है। 

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में लाइसेंस।

तो जरूरी लाइसेंस जो आपको चाहिए होंगे वह है ट्रेड लाइसेंस। रजिस्ट्रेशन ऑफिस यानी उसमें कंपनी का नाम, मैनेजमेंट की डीटेल्स और साइज ऑफ बिजनेस बताना पड़ेगा। बिजनेस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी, वन पर्सन कंपनी, लिमिटेड लॉयल्टी पार्टनरशिप या पार्टनरशिप के अंडर करेंगे। उसी लिहाज से आपको कंपनी रजिस्टर करवानी पड़ेगी। इसके अलावा आप किसी सीए की हेल्प भी ले सकते हैं तो काम आपका आसान हो जाएगा। सेंट्रल गवर्मेंट के एमएसएमई डिपार्टमेंट में रजिस्ट्रेशन करवा लीजिएगा और उद्योग आधार अप्लाई कर दीजिएगा।

उद्यमी रजिस्ट्रेशन करवाएंगे तो गवर्नमेंट स्कीम्स में सब्सिडी भी अप्लाई कर पाएंगे। अपनी कंपनी चलाने के लिए आपको अपने राज्य में स्टेट पल्यूशन कंट्रोल बोर्ड से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट यानी एनओसी लेनी होगी कि आप पर्यावरण को दूषित नहीं कर रहे हैं और पलूशन कंट्रोल बोर्ड मानकों को मान रहे हैं। इसके बाद अपना ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन भी करवा लीजिएगा, ताकि आपके नाम से कोई और दूसरी कंपनी ना खुल जाए या फिर कोई आपके कॉपीराइट प्रोडक्ट्स को कॉपी ना करे। किसी भी बिजनेस के लिए टैक्स भरना जरूरी है तो आईटीआर टाइम पर फाइल कीजिएगा। 

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में टाइम पीरियड।

टाइम पीरियड की बात करें तो नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग का सेटअप लगाने के लिए कम से कम 4 से 5 महीने का टाइम तो लग ही जाता है। वो ऐसे कि लाइसेंस का प्रोसेस पूरा करने में महीने से डेढ़ महीने लग जाएंगे। उसके बाद अगर आपके पास बिजनेस कैपिटल की कमी है तो आप बैंक लोन लेंगे या इन्वेस्टर ढूंढेंगे। इसमें भी 2 से 3 महीने लग जाएंगे। लोन सैंक्शन होने के बाद मशीनरी और जरूरी टूल्स लिए जाएंगे तो सारी चीजें बहुत जल्दी भी हुई तो 4 से 5 महीने आराम से लग जाएंगे। 

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में इन्वेस्टमेंट।

इन्वेस्टमेंट की बात करें तो एक स्टैंडर्ड नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने से कम से कम 40 से 50 लाख रुपए चाहिए। फुली फंक्शनल यूनिट के लिए जरूरी सभी मशीन काफी महंगे आते हैं। मशीन की कीमत भी फुली ऑटोमैटिक या सेमी ऑटोमैटिक पर डिपेंड करेगी। उसके बाद रजिस्ट्रेशन, रॉ मटीरियल, इम्प्लॉइज की सैलरी, ब्रैंडिंग, मार्केटिंग, इलेक्ट्रिसिटी, ट्रांसपोर्टेशन और बाकी खर्चे मिलाकर के इतना तो हो ही जाएगा।

बिजनेस शुरू करने के बाद स्टैब्लिश होने तक और प्रॉफिट आने तक का खर्चा भी ओनर को ही उठाना पड़ता है। तो बैकअप के तौर पर भी कुछ कैपिटल आपको अपने हाथ में रखनी होती है, क्योंकि नोटबुक कागज से बनती है और कागज बड़ी जल्दी आग पकड़ता है। तो सेफ्टी के लिए आप अपनी यूनिट में फायर एक्सटिंग्विशर भी जरूर रखें और हो सके तो इंश्योरेंस करवा लीजिए ताकि कोई फॉर्चूनर एक्सिडेंट होने पर आपकी रिकवरी हो सके।

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में प्रॉफिट।

बात करें प्रॉफिट की तो 150 से 200 पेजेस वाली नोटबुक पर 80 से 100 रुपए का खर्चा आ जाता है, जिसे आप 30 से 40 रुपए ज्यादा कीमत पर बेच सकते हैं। इस बिजनेस को आप शुरू करते हैं तो आसानी के साथ महीने में 30000 से 40000 कमा सकते हैं और साथ ही अगर आप इसे बड़े स्तर पर करते हैं तो इसमें आप 50,000 भी कमा सकते हैं।

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में रॉ मटीरियल्स।

रॉ मटीरियल्स की बात करें तो नोटबुक बनाने के लिए सबसे जरूरी जो तीन चीजें चाहिए होती हैं वह है ब्लैंक पेपर शीट्स, जो 60 से 70 रुपए पर केजी मिल जाएंगी। हार्ड बोर्ड जो 1 से 2 रुपए पर पीस के हिसाब से मिल जाएंगे और नोटबुक कवर्स जो कि 3 से 5 रुपए पर यूनिट मिल जाएंगे। इनके लिए आपको मार्केट तलाशना होगा कि कहां आपको सस्ते में क्वॉलिटी प्रोडक्ट मिलेगा। प्रोडक्ट की क्वॉलिटी के हिसाब से प्राइस कम या ज्यादा हो सकती है।

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में मशीन और बिजली।

अब यूनिट के लिए जरूरी मशीन के बारे में हम जानें तो नोटबुक का प्रोडक्शन करने के लिए आपको ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन, फोल्डिंग मशीन, स्टीचिंग मशीन और कटिंग मशीन की जरूरत होगी। इंडियामार्ट पर आपको यह सारी मशीनें मिल जाएंगी। लेकिन किसी भी सप्लायर से डील करने के पहले मशीन को देख आइए और किसी एक्सपर्ट को अपने साथ लेकर के जाइए। सभी मशीनों को चलाने के लिए आपको यूनिट में कम से कम 50 किलोवाट बिजली की जरूरत पड़ेगी। इसलिए आपको एक कमर्शियल इलेक्ट्रिक कनेक्शन लेना होगा और पावर बैकअप का इंतजाम भी रखना होगा। 

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में एरिया।

यूनिट के लिए जरूरी एरिया और स्पेस के बारे में सोचा जाए तो अगर प्रोडक्शन लार्ज स्केल पर हो रहा है तो आपको कम से कम एक हज़ार स्क्वेयर फीट एरिया की जरूरत पड़ेगी, जिसमें आप स्कूल, कॉलेज और ऑफिस में लगने वाले सभी तरह के नोटबुक बनवा पाएंगे। अगर प्रोडक्शन कैपेसिटी कम है तो 500 स्क्वेयर फीट एरिया से काम बन जाएगा। अगर आपके पास जगह नहीं है तो हर महीने रेंट पर खर्च होने वाले पैसों से आपकी इन्वेस्टमेंट और बढ़ जाएगी।

FAQ:

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस शुरू करने में कितना इन्वेस्टमेंट लगता है?

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस शुरू करने में आपको 30 लाख से 40 लाख तक का इन्वेस्टमेंट लग सकता है।

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में कितना प्रॉफिट मार्जिन होता है?

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में 30% से 40% तक का प्रॉफिट मार्जिन होता है।

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में कितना एरिया की जरूरत होती है?

नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में 500 स्क्वायर फीट से लेकर 1000 स्क्वायर फीट एरिया की जरूरत होती है।

निष्कर्ष:

तो दोस्तों इस तरीके से हमने आपको बताया कि नोटबुक मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? दोस्तों इसका अगर आप बड़े अस्तर पर बिजनेस करते हैं तो आपको बहुत ज्यादा मुनाफा हो सकता है। इस बिजनेस की डिमांड और उसको मार्केट में हमेशा ही रहने वाली है क्योंकि छोटे बच्चों का पढ़ाई नोटबुक से ही शुरू होता है। अगर आप कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो इसके बारे में जरूर सोचे और ऊपर दिए गए लेख को ध्यान से पढ़ें जिससे आपको अच्छा आईडिया मिल जाए। आशा करता हूं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। इस लेख को पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a comment

शेयर मार्केट से एक महीना में कितना परसेंट का रिटर्न मिलता है? सबसे बढ़िया स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग करने के लिए कौन सा एप्प बेस्ट है? शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाते हैं, और इससे कैसे पैसे कमाते हैं? SBFC Finance IPO: SBFC Finance का IPO जारी, निवेशक लगा रहे हैं जमकर बोली कंपनी का शुद्ध मुनाफा 35% की बढ़ोतरी के साथ पहुंचा 455.45 करोड़ रुपए। कंपनी के खर्च में आई 343.89 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी, जानिये क्या है नाम? Mutual Fund से कैसे पैसे कमाते है बड़ी – बड़ी कंपनियां, जानकार हो जाएंगे हैरान? जानिये Coal India के Share में पैसा लगाना सही या नहीं? Mutual Funds ने दर्ज किया पिछले 4 सालों का सबसे अधिक आंकड़ा, निवेशक लगा रहे हैं जमकर पैसे? ट्रेवल एजेंसी के द्वारा अपने करेंसी को एक्सचेंज करवाए।